ALL उत्तर प्रदेश उत्तराखंड बिहार नई दिल्ली मुंबई देश-विदेश
सड़क सुरक्षा सप्ताह पर कार्यशाला का किया गया आयोजन
October 14, 2019 • Ajit Kumar Singh

उत्तर प्रदेश गौतम बुद्ध नगर◽ जिलाधिकारी बीएन सिंह के निर्देशन में सड़क सुरक्षा सप्ताह का आगाज। बड़े स्तर पर कार्यशाला का किया गया आयोजन

◽ परिवहन विभाग, उत्तर प्रदेश द्वारा प्रदेश भर में दिनांक 14 अक्टूबर'2019 से 20 अक्टूबर' 2019 के मध्य सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया जा रहा है । सड़क सुरक्षा सप्ताह के प्रथम दिन, दिनांक 14 अक्टूबर 2019 को इंडस वैली स्कूल सेक्टर 62 के ऑडिटोरियम में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला का उद्धघाटन जिलाधिकारी , गौतम बुद्ध नगर बीएन सिंह द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया।

कार्यशाला के आरंभ में जिलाधिकारी द्वारा सड़क सुरक्षा के संबंध में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से , परिवहन विभाग द्वारा तैयार किए गए दो फ्लायर्स का विमोचन किया गया, जिनमें सड़क दुर्घटनाओं में पीड़ित व्यक्तियों को सरकारी सहायता के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई है। इसके अतिरिक्त एक फ्लायर में सड़क पर लगाए जाने वाले यातायात चिन्हों और संकेतकों की विस्तृत जानकारी दी गई थी साथ ही साथ , सड़क पर चलते समय किन नियमों का पालन करना चाहिए और किन आदतों और व्यवहारिक गलतियों से बचना चाहिए के बारे में सलाह दी गयी है।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 27 मई' 2019 को स्कूली वाहनों के संबंध में, उत्तर प्रदेश मोटरयान नियमावली 1998 में व्यापक संशोधन कर अपनाए गए नए प्रावधानों तथा नियमों को , विस्तृत प्रचार प्रसार तथा सहज उपलब्ध कराने के उद्देश्य से पुस्तक के रूप में छपवा कर प्रस्तुत किया गया।

कार्यशाला के दौरान जिलाधिकारी बी एन सिंह द्वारा सड़क सुरक्षा के संबंध में जागरूक होने के बारे में यह आगाह किया गया कि किसी भी विकासशील देश की दो प्रमुख समस्याएं ट्रैफिक तथा प्रदूषण होती हैं। अतः सड़क पर जान माल की सुरक्षा और पर्यावरण की शुचिता बनाए रखना हमारी महती जिम्मेवारी है । 

एसपी (ट्रैफिक)  अनिल झा द्वारा अपने संबोधन में कहा गया कि सड़क दुर्घटना में प्रतिदिन लगभग एक बड़े जम्बो बोइंग विमान की यात्री क्षमता के बराबर लोगों की मृत्यु हो जाती है । इस पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए हमें पहले स्वयं को सुधारना होगा, सरकारी प्रवर्तन तंत्र से बाद में ही अपेक्षा करनी चाहिए कि वह हमें चालान कर सुधारने का कार्य करेगा।

डॉक्टर दोहरे द्वारा चिकित्सा विभाग की ओर से स्कूल के विद्यार्थियों की सहायता से सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्तियों को प्राथमिक सहायता देने के संबंध में विस्तार से चर्चा की गई।

चीफ फायर अफसर अरुण कुमार सिंह द्वारा सड़क सुरक्षा के दृष्टिकोण से वाहनों में अग्निशमन यंत्रों के प्रयोग पर चर्चा की गई

फिल्म कंपनी की ओर से स्वतंत्र कुमार, अनुज एवं  रजत द्वारा सड़क सुरक्षा के संबंध में तकनीकी जानकारी से अवगत कराया गया।

परिवहन विभाग की ओर से हिमेश तिवारी ने सभी प्रतिभागियों का धन्यवाद दिया तथा इस बात पर जोर दिया की सभी नागरिकों को अपने व्यवहारिक आचरण में संयम और अनुशासन लाने की आवश्यकता है। सड़क सुरक्षा विषय को सामाजिक आर्थिक दृष्टिकोण से भी पुनरीक्षण करने की आवश्यकता का उल्लेख करते हुए, उन्होंने बताया कि समाज का एक बहुत बड़ा हिस्सा ऐसा है जिसकी चेतना का स्तर इतना विकसित नहीं है , कि वह सड़क सुरक्षा को अपनी प्राथमिकता में रखें। ऐसे वर्ग को प्रवर्तन के साथ-साथ जागरूकता की महती आवश्यकता है।

कार्यक्रम में इंडस वैली स्कूल की प्रिंसिपल शिखा शर्मा द्वारा अपने विचार रखते हुए अविभावकों तथा ट्रैफिक पुलिस को अपील की कि 18 साल से कम उम्र के विद्यार्थियों को , किसी भी हालत में वाहन न चलाने दिए जाएं। 

कार्यक्रम में स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों के अतिरिक्त नोएडा बस यूनियन के पदाधिकारियों  संदीप धुप्पड़, अनिल दीक्षित तथा कई विद्यालयों के चालकों और ट्रांसपोर्ट मैनेजर द्वारा प्रतिभाग किया गया। 

कार्यक्रम का संचालन आलोक सिंह द्वारा किया गया।

मेट्रो युग
हिंदी मासिक पत्रिका
https://metroyug.page
मेल: gnfocus@gmail.com  कॉल: 8826634380