ALL उत्तर प्रदेश उत्तराखंड बिहार नई दिल्ली मुंबई देश-विदेश
मुम्बई पुलिस की हिरासत से फरार शातिर अभियुक्त देहरादून में गिरफ्तार
February 20, 2020 • A K Singh • उत्तराखंड

दून पुलिस की गिरफ्त में ईनामी शातिर फरार अभियुक्त।

आजमगढ़. उत्तरप्रदेश से मुम्बई पुलिस की हिरासत से फरार व 25000 रुपये के इनामी_शातिर अभियुक्त को दून पुलिस ने मय 315 बोर तमंचा व कारतूस के साथ देहरादून में किया गिरफ्तार

          वर्तमान में जनपद देहरादून में पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा सभी थाना प्रभारियों व एस0ओ0जी0 टीम को वांछित व इनामी अभियुक्तो की गिरफ्तारी हेतु आवश्यक दिशा निर्देश निर्गत किये गए थे, जिसके अनुपालन में थाना पुलिस व एस0ओ0जी0 की टीम लगातार प्रयासरत थी, दिनांक: 02-01-2020 को श्रीमती सावित्री सिंह पत्नी मनोज सिंह ठाकुर नि0 188 होटल ग्रीन व्यू के पीछे फ्लैट, मालसी, मंसूरी रोड, थाना राजपुर, देहरादून द्वारा सुनील मल्होत्रा व अन्य के विरूद्ध आपराधिक षडयन्त्र रचकर उनके फर्जी दस्तावेजों के आधार पर वादिनी के मालसी स्थित फ्लैट को क्रय करने सम्बन्धी अभियोग पंजीकृत कराया गया था। उक्त अभियोग की विवेचना के दौरान प्रकाश में आया कि वादिनी के पति मनोज सिंह ठाकुर द्वारा सुनील मल्होत्रा के साथ आपस मे साठगांठ कर फर्जी दस्तावेज तैयार करवाकर मालसी स्थित फ्लैट को सुनील मल्होत्रा को बेचकर करीब 98 लाख रुपये प्राप्त किये गये थे, विवेचना में प्राप्त सभी तथ्यों व दस्तावेजो का परीक्षण किया गया, जिसमे उक्त विवेचना में मनोज सिंह ठाकुर के बयान  अति महत्वपूर्ण  होने के कारण मनोज सिंह ठाकुर की तलाश प्रारम्भ की गई, तो जानकारी मिली कि मनोज सिंह ठाकुर मूल रूप से जनपद आजमगढ़ उत्तर प्रदेश का रहने वाला है तथा बचपन से ही मुम्बई में रह रहा है, मनोज सिंह ठाकुर के संबंध में जानकारी करने हेतु थाना पुलिस द्वारा एस0ओ0जी0 देहरादून को भी अवगत कराया गया। थाना पुलिस व एस0ओ0जी0 द्वारा संयुक्त रूप से उक्त व्यक्ति के संबंध में मुम्बई पुलिस व उत्तरप्रदेश पुलिस से अलग अलग संपर्क स्थापित किया गया। इसी दौरान दिनांक 11 फरवरी 2020 को पुलिस अधीक्षक नगर देहरादून को मुम्बई पुलिस से जानकारी प्राप्त हुई कि मनोज सिंह ठाकुर नाम का एक अभियुक्त जनपद आजमगढ उत्तर प्रदेश से मुम्बई पुलिस की हिरासत से फरार हो गया है, जिसके विरुद्ध मुम्बई व आजमगढ़ उत्तर प्रदेश में संगीन धाराओ में करीब 20 अभियोग पंजीकृत हैं तथा जिस पर उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा 25000 रुपये का इनाम घोषित किया गया है। मुम्बई पुलिस द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि उक्त अभियुक्त सम्भवत देहरादून में अपनी पत्नी व बच्चों से मिलने आ सकता है। उक्त समस्त सूचनाओ से पुलिस अधीक्षक नगर देहरादून द्वारा पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून को अवगत कराया गया, जिस पर महोदय द्वारा उक्त शातिर पुलिस हिरासत से फरार इनामी अपराधी की गिरफ्तारी हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए तथा  पुलिस अधीक्षक नगर के निकट पर्यवेक्षण में थाना राजपुर व एस0ओ0जी0 की अलग अलग टीमें गठित की गई। उक्त अभियुक्त के पुलिस अभिरक्षा से फरार होने के उपरान्त जनपद देहरादून में आने की सम्भावना के दृष्टिगत गठित टीमों द्वारा सभी होटलों, सरायों में अभियुक्त की तलाश हेतु चैकिंग अभियान चलाया गया तथा आनलाइन बुकिंग के माध्यम से बुक किये गये होटलों का रिकार्ड खंगाला गया, साथ ही गठित टीमो द्वारा उक्त अभियुक्त के संबंध में मुम्बई पुलिस व आजमगढ़ पुलिस से महत्वपूर्ण दस्तावेजी साक्ष्य व अन्य महत्वपूर्ण तथ्य प्राप्त कर अभियुक्त की तलाश हेतु स्थानीय पुलिस सूत्रों को अवगत कराया तथा व्हाट्सएप्प के माध्यम से भी उक्त अभियुक्त की फोटो  पुलिस सूत्रों को प्रषित की गई तथा एक टीम को सादे वस्त्रो में अभियुक्त के मालसी स्थित फ्लैट पर निगरानी रखने हेतु नियुक्त किया गया। अभियुक्त की तलाश हेतु दिनांक 19 फरवरी 2020 को जब एस0ओ0जी0 टीम राजपुर रोड पर एनआईवीएच के पास मामूर थी तो मुखबिर द्वारा पुलिस टीम को सूचना दी गयी कि उक्त मनोज सिंह ठाकुर को कल दिन में देहरादून में कचहरी के आस पास देखा गया, सम्भवतः वह अपनी पत्नी से मिलने जरूर जाएगा, उसके द्वारा एक टैक्सी गाड़ी को किराये पर लिया गया है। इस सूचना से सभी टीमो को अवगत कराकर सतर्क किया गया तथा एस0ओ0जी0 प्रभारी व थानाध्यक्ष राजपुर की संयुक्त टीम द्वारा मय अस्लाह के साथ दिनांक 19 फरवरी 2020 के दोपहर से ही अभियुक्त केे घर जाने वाले रास्ते पर जोहड़ी तिराहा मंसूरी रोड पर निगरानी रखते हुए संदिग्ध गाड़ियों की चैकिंग प्रारम्भ की गई, लगातार निगरानी व चैकिंग करते हुए 19/20 फरवरी की देर रात्रि को देहरादून की तरफ से एक गाड़ी आती हुई दिखाई दी, जिसको मुखविर द्वारा देखकर बताया कि यही वह संदिग्ध गाड़ी है। मुखबिर की निशानदेही पर पुलिस टीम द्वारा बैरियर लगाकर उक्त वाहन को रोका गया तथा अस्लहों की सहायता से उक्त गाड़ी को चारों तरफ से घेरकर चेतावनी देते हुए गाड़ी के चालक व उसमें सवार एक अन्य व्यक्ति को बाहर निकलने के लिए कहा गया। गाडी की पिछली शीट पर बैठे व्यक्ति का हुलिया मनोज सिंह ठाकुर के हुलिए से हूबहू मेल खाता था, जिससे नाम पता पूछने पर वह आनाकानी करने लगा। सख्ती से पूछताछ करने पर उसने अपना नाम मनोज सिंह ठाकुर बताया तथा यह भी बताया कि वह 11 फरवरी 2020 को पेशी से लौटते वक्त आमगांव, थाना दीदारगंज, जनपद आजमगढ़ से पुलिस को चकमा देकर पुलिस अभिरक्षा से फरार हो गया था। दिनांक 11 फरवरी को ही अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु जनपद आजमगढ़ पुलिस द्वारा 25000 रुपये का इनाम घोषित किया गया था, अभियुक्त की तलाशी लेने पर उसके कब्जे से एक अदद 315 बोर देशी तमंचा मय 2 जिंदा कारतूस बरामद हुए, जिनका इसके पास कोई वैध कागजात नही पाया गया, अभियुक्त के विरुद्ध अवैध अस्लाह व कारतूस रखने के संबंध में थाना राजपुर पर आम्र्स एक्ट का अभियोग पंजीकृत किया गया तथा मुम्बई पुलिस व आजमगढ़ पुलिस को उक्त इनामी अभियुक्त की गिरफ्तारी की सूचना दी गयी हैं। 
       इस प्रकार पुलिस टीमो द्वारा उच्चाधिकारी गणों के सफल निर्देशन में टीम भावना से पुलिस टैक्टिक्स का सफल उपयोग करते हुए गैर राज्य से वांछित 25000 रुपये का इनामी शातिर अपराधी, जो कि पुलिस हिरासत से फरार था को देहरादून में गिरफ्तार किया गया। जिसकी जनता व उच्चाधिकारीगणों द्वारा भूरी-भूरी प्रशंसा की गई तथा दून पुलिस द्वारा उक्त गिरफ्तारी के माध्यम से अपराधियो में यह संदेश भी दिया गया कि गैर राज्यो से अपराध कर देहरादून में आये अपराधियो को किसी भी स्थिति में बख्शा नही जाएगा, उनके विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्यवाही की जाएगी।’

*नाम पता गिरफ्तार इनामी अभियुक्त*

मनोज सिंह ठाकुर पुत्र स्व0 रघुपति सिंह नि0 बी 806 यूनिक हाइट, पुनम गार्डन मीरा रोड, ईस्ट, ठाणे, महाराष्ट्र।
*मूल पता-* ग्राम आमगाव थाना दीदारगंज, जिला आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
*हाल पता-* 188 होटल ग्रीन वयू के पीछे, फ्लैट, मालसी, मंसूरी रोड, थाना राजपुर, देहरादून। उम्र 41 वर्ष।

*बरामदगी का विवरण*
1- एक अदद 315 बोर देशी तमंचा
2- दो जिंदा कारतूस 315 बोर।
3- 2100 रुपये नगद।
4- एटीएम कार्ड (इंडियन ओवरसीज बैंक)
5- दो मोबाइल फोन।

*पूछताछ का विवरण*
           पूछताछ में अभियुक्त मनोज सिंह द्वारा बताया गया कि मैं मूल रूप से जनपद आजमगढ़ उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूं। मेरे पिता मुंबई में रेलवे में अधिकारी थे,  जिस कारण मैं बचपन से ही मुंबई मे रहा।  मेरी पढ़ाई-लिखाई मुंबई से ही हुई है तथा मैंने वर्ष 2002 मुंबई यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किया है,  उसके पश्चात मैंने के0सी0 कॉलेज मुंबई से जर्नलिज्म का डिप्लोमा लिया तथा उसके बाद 04 साल तक एक प्रतिष्ठित अखबार में फ्री लांस रिपोर्टर के तौर पर कार्य किया गया।  राजनीतिक पृष्ठभूमि से जुड़ने के पश्चात मैं वर्ष 2008 से 2012 तक महाराष्ट्र में श्री लालू प्रसाद यादव जी की जनता दल पार्टी का प्रदेश प्रवक्ता रहा,  उसके पश्चात वर्ष 2012 से 2014 तक महाराष्ट्र में समाजवादी पार्टी का प्रदेश महासचिव, तत्पश्चात विलासराव देशमुख जी के समय पर महाराष्ट्र में समन्वय समिति का सदस्य भी रहा।  समाजवादी पार्टी से जुड़े होने के कारण वर्ष 2016 में आजमगढ़ के मार्टीगंज क्षेत्र से ब्लॉक प्रमुख चुना गया परंतु वर्ष 2018 में अविश्वास प्रस्ताव आने पर मुझे उस पद से हटा दिया गया। मेरे विरुद्ध उत्तर प्रदेश में आजमगढ़ व वाराणसी में रेलवे में नौकरी दिलाने तथा महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत लोगो को आवास दिलाने के संबंध में आर्थिक अपराध शाखा में धोखाधड़ी के कई अभियोग पंजीकृत हैं। मुंबई पुलिस द्वारा मुझे 26 सितंबर 2019 को ठाणे से गिरफ्तार किया गया था तथा दिनांक 10 फरवरी को मुम्बई पुलिस मुझे वाराणसी में पंजीकृत धोखाधड़ी के अभियोग के संबंध में वाराणसी कोर्ट में पेशी के लिए लायी थी, वहां से कोर्ट में पेशी के पश्चात मेरे द्वारा अपनी मां की बीमारी का बहाना बनाकर मुंबई पुलिस को अपने साथ आजमगढ़ चलने के लिए राजी किया गया तथा आजमगढ़ पहुँचने के बाद मैं किसी तरह पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। आजमगढ़ से फरार होने के पश्चात मैं वहां से किसी तरह छुपते-छुपाते ट्रेन के जरिये लखनऊ पहुँचा तथा वहां से बस पकड़कर दिनांक 14 फरवरी 2020 को देहरादून आ गया, क्योंकि मेरी बीवी व बच्चे देहरादून में ही रहते थे तथा लंबे समय से मेरा उनसे कोई किसी प्रकार से कोई संपर्क नहीं हो पाया था तो मैं उनसे मिलने के लिये ही देहरादून आया था, देहरादून पहुंचने के बाद में पुलिस से बचने के लिये छोटे-छोटे होटलों में छुपकर रह रहा था तथा अपने परिवार से मिलने का प्रयास कर रहा था, परंतु मेरी उनसे मुलाकात नहीं हो पा रही थी। आज भी मैं अपने परिवार से मिलने जा रहा था परन्तु उससे पूर्व ही पुलिस द्वारा मुझे गिरफ्तार कर लिया गया।

*नोट :-  अभियुक्त द्वारा पूछताछ के दौरान बताये गये सभी तथ्यों के सम्बन्ध में  मुम्बई पुलिस से जानकारी प्राप्त की गयी तो उक्त सभी तथ्यों का मिथ्या होना ज्ञात हुआ। मुम्बई पुलिस द्वारा अवगत कराया कि अभियुक्त द्वारा पूर्व में भी इसी प्रकार मिथ्या तथ्यों को पेश कर कई लोगों के साथ धोखाधडी की गयी है।* 

*अभियुक्त का आपराधिक इतिहास*

01- मु0अ0सं0 354/04 धारा 420/406/465/467/468/471/34 भादवी थाना जुहू, मुम्बई।
02- मु0अ0सं0 37/04 धारा 420 भादवी थाना M.H.B Colony, मुम्बई।
03- मु0अ0सं0 288A/10 धारा 147/148/323/325/506 भादवी थाना दीदारगंज, जनपद आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
04- मु0अ0सं0 30/11 धारा 323/504/337 भादवि, थाना कस्तूरबा मार्ग, मुम्बई।
05- मु0अ0सं0 536/11 धारा 307/406/504/506 भादवी, थाना दीदारगंज, जनपद आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
06- मु0अ0सं0 537/11 धारा 307/504/506 भादवी थाना दीदारगंज, जनपद आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
07- मु0अ0सं0 275/13 धारा 419/420/467/468भादवी, थाना कैंट, जनपद वाराणसी, उत्तर प्रदेश।
08- मु0अ0सं0 75A/13 धारा 323/504/506 भादवी थाना दीदारगंज, जनपद आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
09- मु0अ0सं0 137/13 धारा 419/420/467/468/471/406/ 506 भादवी थाना दीदारगंज, जनपद आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
10- मु0अ0सं0 246A/14 धारा 147/148/323/452/354/504/ 506 भादवी थाना दीदारगंज, जनपद आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
11- मु0अ0सं0 91/15 धारा 406/420/504/ 506 भादवी थाना शिवपुर, जनपद वाराणसी, उत्तर प्रदेश।
12- मु0अ0सं0 176/15 धारा 323/504/ 506 भादवी थाना दीदारगंज, जनपद आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
13- मु0अ0सं0 217/15 धारा 147/148/149/323/504/ 506/392 भादवी,  थाना दीदारगंज, जनपद आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
14- मु0अ0सं0 113/16 धारा 420/406 भादवि, आर्थिक अपराध शाखा, मुम्बई।
15- मु0अ0सं0 141/17 धारा 420/406 भादवी, थाना दीदारगंज, जनपद आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
16- मु0अ0सं0 251/17 धारा 143/341/353 भादवी व 7 CLA Act थाना दीदारगंज, जनपद आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
17- मु0अ0सं0 43/18 धारा 353/323/333/504/506 भादवि थाना दीदारगंज, जनपद आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
18- मु0अ0सं0 112/18 धारा 323/504/506 भादवी, थाना सरायमीर, जनपद आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
19- मु0अ0सं0 519/18 धारा 420/34 भादवी थाना समता नगर, मुम्बई।
20- मु0अ0सं0 28/20 धारा 223/224 भादवी थाना दीदारगंज, जनपद आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
21- मु0अ0सं0 1057/19धारा  419/420/406/504/506 भादवी थाना कर्नल गंज, प्रयागराज, उत्तर प्रदेश।
22- मु0अ0स0 27/2020 धारा 25 आर्म्स एक्ट थाना राजपुर, देहरादून।

*नोट- अभियुक्त मनोज सिंह एक  शातिर किस्म का अपराधी है,  जिसके विरुद्ध उत्तर प्रदेश के जनपद आजमगढ़, वाराणसी तथा महाराष्ट्र में मुंबई में धोखाधड़ी, लूट, हत्या का प्रयास समेत कई अभियोग पंजीकृत हैं।  अभियुक्त के दिनांक 11 फरवरी 2020 को आजमगढ़ से मुम्बई पुलिस की गिरफ्त से फरार होने के उपरांत उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा अभियुक्त के ऊपर 25000रू0 के इनाम की घोषणा की गई थी।*

*’पुलिस टीम’*
-----------------
1- पुलिस अधीक्षक नगर श्रीमती श्वेता चौबे
2- सी0ओ0 डालनवाला श्री विवेक कुमार
3- श्री अशोक राठौड़ थानाध्यक्ष राजपुर
4- उप0निरी0 योगेश पांडेय
5- उप0निरी0 नीरज त्यागी
6- कां0 अमित भट्ट
7- कानि0 राकेश डिमरी
8- कानि0 अमित कुमार
9- कां0 चालक महावीर सिंह
*एस0ओ0जी0 टीम*
------------------------------
1-प्रभारी एस0ओ0जी0 ऐश्वर्या पाल
2-कानि0 ललित कुमार, एस0ओ0जी0
3-- कानि0 देवेंद्र,  एस0ओ0जी0
4- कानि0 अरशद अली, एस0ओ0जी0
5- कानि0 विपिन, एस0ओ0जी0
6- कानि0 पंकज, प्रमोद, आशीष, अमित, देवेंद्र ममगई, एस0ओ0जी0 देहरादून।

---------------------------------------------------------------

मेट्रो युग
हिंदी
https://metroyug.page
मेल: gnfocus@gmail.com
        metroyugmagazine@gmail.com
कॉल: 8826634380, 9310919359